Hindi Shayri by Kittu Deriya : 111237147

नियति की कलम से मुलाकात लिखी थी
अचानक उस रोज मे तुमसे मिली नही थी,
शायद तुझसे जुडी हुई थी किस्मत मेरी
वरना मे प

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories